Uncategorized

छत्‍तीसगढ़ी शब्‍द के हिन्‍दी अर्थ और प्रयोग

Shabdkoshपिछले दिनों कुछ शब्‍दों पर आपस में बातें होती रहीं-
अखरा
कोतल
बाहुक
गेदुर
अगवारिन
फाता
डमरुआ
देवारी
लमना
अरमपपई
फुंडहर
सिलयारी
तिरही