व्यंग्य

नेता मन के जनमदिन के पोस्टर हा साल भर पूरा राईपुर शहर मा चटके रथे

धान कस टुकुर-टुकुर देखत खड़े रहेव बियंग संजीव खुदशाह जब ले मै राईपुर आये रहेउं, नेतामन के जनमदिन के पोस्टर ला देख के मोर मन हा कसमसा के रईगीस। मोला लागीस के मै राईपुर नही कोनो नेता के घर मा पहुचगेव। को रे बाबु हमन ई नेता मन ला बोट देके अतके कन गलती करे हन, कि हमन अपन लईका के जनम दिन ला भुला जाथन। लेकिन ई नेता मन के जनमदिन के पोस्टर हा साल भर पूरा राईपुर शहर मा चटके रथे। ई मन राजयोग ला पाने वाला पूरा बछर जनम दिन ला मनाथे। का योगी का सन्यासी का अगरावाले का तिवारी सबके जनम दिन के फोटो हा गली गली म चटके रथे। कभु-कभु खुखांर असन इमनके सकल ला देख के नानकन लईका मन डरा घलो जाथे। मै घलो इ नेता मन और उकर चम्मा के कुटिल हसी वाला फोटु ल देख के चक्कर में पड़ जाथौ। ईमन हास्थे धन कुट रचना करथ हवे। एक घौ एक नेता के चम्मच ला पुछैव, कईसे रे बाबु भोगी के जनम दिन म तोर फोटु गली गली में चपके रहेयं। कहां ले भिड़ाय हस अईसन कनेक्शन। चममच हा दांत ला निपोरे लागीस। फेर मै कहेव कहां ला पाथस अतके कन पईसा, हमुमन ला बतातेव त जिनगी हा तरजतीस। फेर उ चम्मच हा दांत ला निपोरेकस करीस। मोर गोठ हा ओला गुदगुदी कस लागीस। कनेक्शन के गोठ मा अपन आप ला केबिनेट मिनीस्टर के दर्जा वाला सिमंेट कस सीना ला फुलाय रहे। मोला कथे- हट रे बुढ़उ तै का जानबे इ चिज ला, इही ला कथे राजनीति। तुमन का जानहु राजनीति ला , बस धान ला बोथौ- बासी ला खाथौ। इ ला कथे बोआई, चुनाव होही तेकर बाद किये जाही लुआई। ही ही हांसे लागीस। फेर मै हा पुछेव बुआई में कतेकन खरचा आईस- चम्मच हा मोर बर भड़कगे, लेकिन कुटिल हसीं मां दात ला दबा के कथे- देड़ करोड़। देड़ करोड़ के खर्चा जनम दिन म सुन के मोर होश उड़ागे रहय। लेकिन कइसनो हिम्मत करके मै हा पुछेव – लुआई म का होही। फेर उ चम्मच हा दांत ला निपोर के किहीस दलाली मिलही देड़ अरब के। अब मै चुप हो गेव, भागे के रद्दा ला खोजत रहेव। अईसन खेती मोर पुरखा तक नई जानय। मै भागे के चालु करेव, कभु ओ गली- कभु ई गली। जहां मै जातेव, इही मन के फोटु हा चपके रहेय। ई मन के बोआई म मै धान कस टुकुर-टुकुर देखत खड़े रहेव।

संजीव खुदशाह

परिचय
1. नाम – संजीव खुदशाह
2. जन्म – 12 फरवरी 1973 बिलासपुर
3. शिक्षा – बी.काम., डी.बी.एम.एस., एम.ए.१समाज शास्त्र१, एल.एल.बी ।
4. संप्रति – राजस्व विभाग में प्रभारी सहायक प्रोग्रामर
5. अन्य – मिमिक्री कलाकार एवं नाट्यकर्मी ।
6. पता – 1. Postal Add. -39/350 गणेश नगर, भवानी टेन्ट हाउस के पीछे,
बिलासपुर (छत्तीसगढ़) पिन-495004
2. Blog Add. -www.sanjeevkhudshah.blogspot.com
3. email Add. -sanjeevkhudshah@gmail.com
7. मो.न. – 09977082331, 09300983411
8. कृतियां -1. चर्चित पुस्तक ”सफाई कामगार समुदाय“ 2005 प्रकाशक-राधाकृष्ण प्रकाशन प्रा.लि. नई दिल्ली।
2. चचित पुस्तक ”आधुनिक भारत में पिछड़ा वर्ग“ शिल्पायन से प्रकाशित।
3. लेख, कहानी, एवं कविताएं विभिन्न पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित।
9. अनुवाद – पुस्तक ”सफाई कामगार समुदाय“ का मराठी अनुवाद 2009 में प्रकाशित अनुवादक-भीमराव गणवीर प्रकाशक-सुगावा प्रकाशन पुणे।
एवं पंजाबी भाषा में अनुवाद शीघ्र प्रकाश्य।
10. अन्य उपल्धियां- 1. पुस्तक ”सफाई कामगार समुदाय“ को साहित्य का तेजस्वनी सम्मान।
2 आपके व्दारा बनाया साफ्टवेयर ”क्राप कटींग एक्सपेरीमेंट साफटवेयर सिस्टम“ छत्तीसगढ़ के सभी जिला कार्यालयों में संचालित।
3 पुस्तक ”सफाई कामगार समुदाय“ पर हुई समीक्षा एवं चर्चा पर केन्द्रित पुस्तक ‘विचार विमर्श एवं प्रतिक्रिया-सफाई कामगार समुदाय` प्रकाशित।
4 पहचान यात्रा त्रैमासिक पत्रिका के रजत अंक का अतिथि संपादन।